1. Home
Rajeev Sharma on 05 September 2016
Share on Facebook

बिना अनुमति के रचना प्रकाशित करने पर शिकायत

श्रीमान जी नमस्कार ! मान्यवर सनिवेदन यह है कि फ्रेंड्स पब्लिकेशन्स के अंतर्गत प्रकाशित कक्षा 8 की एजुटेन्मेन्ट स्निग्धा हिंदी पाठमाला पुस्तक जिसका लेखन एवं संकलन डॉ राम अवतार शर्मा जी ने किया है और संपादक उदयन त्रिपाठी, श्रेय साहनी , प्रियंका मुंजाल जी हैं !! मान्यवर कक्षा 8 की एजुटेन्मेन्ट स्निग्धा हिंदी पाठमाला पुस्तक के पृष्ठ नंबर 6 पर प्रकाशित कविता जिसका शीर्षक मेरी बेटी थोड़ी सी बड़ी हो गई है श्रीमान जी कविता को प्रकाशित करने से पूर्व लेखक की अनुमति नहीं ली गई है और कविता के साथ रचनाकार (लेखक) का नाम नहीं प्रकाशित नही किया गया है !! श्रीमान जी रचनाकार की कोई भी रचना उसकी संतान रूपी होती है जिस पर केवल रचनाकार का ही पूर्ण अधिकार होता है , जानकारी के मुताबिक़ किसी भी रूप में किसी को कोई अधिकार नहीं है कि रचनाकार (लेखक) की बिना अनुमति के रचना प्रकाशित करे. .... कोई भी रचना प्रकाशित करने से पूर्व रचनाकार (लेखक) की अनुमति लेनी आवश्यक होती है !! मान्यवर कक्षा 8 की एजुटेन्मेन्ट स्निग्धा हिंदी पाठमाला पुस्तक के पृष्ठ नंबर 6 पर प्रकाशित कविता जिसका शीर्षक मेरी बेटी थोड़ी सी बड़ी हो गई है मेरी मौलिक रचना है आपकी पुस्तक कक्षा 8 की एजुटेन्मेन्ट स्निग्धा हिंदी पाठमाला में कविता प्रकाशित होने के पश्चात भी आपके द्वारा कोई सम्पर्क स्थापित नही किया गया , ना ही आपके द्वारा सम्पर्क करना उचित समझा गया , जब मुझे मेरी कविता प्रकाशित होने की जानकारी मिली तो मुझे ख़ुशी के साथ बहुत ज़्यादा पीड़ा हुई मन को आघात लगा कि आपने कविता को उसके रचनाकार (लेखक) की बिना अनुमति और बिना रचनाकार (लेखक) के नाम के साथ प्रकाशित किया हुआ है !! शिकायकर्ता राजीव शर्मा "राज" लुधियाना पंजाब 3900