1. Home
Vinod Kumar on 11 April 2015
Share on Facebook

Galat tareeke se ATM transaction

श्री मान जी मेरा नाम विनोद है मेरे पिताजी 9/4/2015को गाँव जाने के लिए पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म न 09 पर बैठे थे तभी दो अज्ञात आदमी आये और कोई नशीला पदार्थ का प्रयोग कर उनको लमसम्ब पंद्रह मिनट के लिए बेहोश कर उनकी कमीज बदल कर दूसरी कमीज पहना दी और उनका बैग और पर्स ले कर भाग गए पर्स मैं उनका एटीएम कार्ड और आई कार्ड था छोटी डाईरी मैं पिन न लिख कर भी रखा था जब उनको होश आया तो उन्होंने घर पर फ़ोन किया और एटीएम कार्ड ब्लाक करवाया लकिन तब तक 0000 की निकासी हो चुकी थी उसी के बाद उन्होंने स्टेशन के पुलिस थाणे मैं अपनी बीती पुलिस महोदय को बताया लकिन उन्होंने जहरखुरानी का कॅश न दर्जे करने के बजाये सामान गुमसुदगी की एनसीआर बनाकर फारीक कर दिया उपरोक्त मामले को खुद के द्वारा गुमसुदगी की एप्लीकेशन लिखकर प्राथी से साइन करवा कर मामले को रफा दफा कर रहे है इसलिए उचित मार्ग बताये एवम् समाधान करिय

ग्राहक सेवा से जुड़ियेJoin Grahak Seva
शिकायत दर्ज करेंStart a complaint